सोमवार, 5 अक्तूबर 2009

बिग बास यानी उतरन......

हर विदेशी टीवी रियलिटी शो को भारतीय चैनल्स में बतौर उतरन पेश करने की श्रंखला मं इन दिनों अपने कौन बनेगा करोडपति प्रथम और द्वितीय वाले बच्चन बाबू उर्फ बिग बी का बिग बॉस त्रतीय शुरू हो गया है। रंगारंग शुरूआत में खुद अमिताभ बच्चन और उनके परम भक्त कामिडियन राजू श्रीवास्तव ही सही मायने में सेलेब्रिटी थे। कलर्स के हर सीरियल के आखिर में इमोशनल ड्रामे पर ब्रेक लगते ही उस सीरियल के सब कलाकार बिग बास को देखने की गुहार कई दिनों से लगा रहे थे। अखबारों में 13 प्रतिभागियों के धुंधले फोटो वाले विज्ञापन में रहस्य दिखाया जा रहा था, मानो लोग इनके नाम जानने के लिए मरे जा रहे हों। खैर जब नाम सामने आए तो कोई अचरज शायद ही किसी को हुआ होगा। क्योंकि यह सभी जानते हैं कि कोई भी व्यस्त और वाकई सेलेब्रिटी 90 दिन इस कार्यक्रम में क्यों उलझेगा भला? तो इस शो में जो 13 लोग आए उनमें चैंकाने वाला कोई नाम नहीं है। बीते जमाने की हीरोइन अरे वही तीस साल पहले त्रिशूल में सचिन, अरे तेंदुलकर नहीं वो प्रमोद महाजन के कुपुत्र के साथ बच्चों के चुटकुलों वाले शो के जज बनकर बैठे रहते हैं, के साथ गपूची गपूची गम गम... वाला गाना गाते हुए बंबईया फिल्मों, राज जिन्ना ठाकरे के लिए मुंबईया फिल्मों में, आई थीं। अर्थात पून ढिल्लो, जो इन दिनों कुकरी शोज तक में आ रही थीं, इक्का दुक्का सीरियल्स में भी दिखीं थीं। खैर इन 13 प्रतिभागियों में राखी सावंत की मां भी हैं, और पर्याप्त कुख्यात हो चुके संगीतकार ईस्माइल दरबार भी हैं। जितने भी लोग इसमें हैं, उनमें राजू श्रीवास्तव ही वास्तव में सेलिब्रिटी कहे जा सकते हैं, वे शायद इस कार्यक्रम को अपनी दम पर चला ले जाएं। लेकिन बच्चन बाबू का यह नया अवतार शायद ही कौन बनेगा करोडपति वाली सफलता हासिल कर पाए। काहे से कि रीयल पर ऐसा ही एक शो पहले से ही चल रहा है अपने गाडरवारा वाले आशुतोष नीखरा अर्थात आशुतोष राणा के सरकारत्व में सरकार की दुनिया। उसकी टीआरपी तो नहीं मालूम लेकिन उसकी चर्चा लोगों की बातचीत में सुनाई नहीं देती। कंपनियां कुछ भी कहें टीआरपी के बारे में लेकिन अपने हिसाब से तो टीआरपी उसकी ज्यादा जिसकी चर्चा घर, आफिस, पार्टी, शादी ब्याह इत्यादि समारोहों में बसों, ट्रेनों में होने लगे। फिलहाल कलर्स के लाडो और बालिका वधू और भाग्य विधाता की चर्चा गाहे बगाहे सुनाई देती हे, अर्थात यही कार्यक्रम ज्यादा सफल हैं। तो हमारे कहने का मतलब ये कि बिग बास द्वितीय के प्रतिभागी बिग बास प्रथम के मुकाबले कमजोर हैं, बस अकेले बच्चन बाबू और गजोधर अर्थात राजू श्रीवास्तव ही इसकी नैया पार लगाने की कोशिश करेंगे। अगली पोस्ट में हम बात करेंगे एकता कपूर की.......

7 टिप्‍पणियां:

mukesh ने कहा…

सही कहा आपने इस बिग बॉस तृतीय में सही सेलेब्रिटी तो खुद बिग बी और अपने गजोधर भैया ही है . बाकि तो अपने टाइम को पास करने ही आये है . खैर देखे बिग बॉस कितना बिग हो पाता है

sanjeev persai ने कहा…

ऐसा है कि हम भी बच्चन बाबू के बहुत्तई बड़े फेन हैं,
सच्ची कहें - बच्चन साहब ने अपने पैरों पे कुल्हाडी दे मारी है,
अब आगे देखने के लिए दो बातें है- पहली कि उन्होंने ऐसा काहे किया होगा और दूसरी है कि ये घाव कितना गहरा होगा और कितने दिन में ठीक होगा, अभी कुछ दिन पहले तो वे बूम......के घाव से उबरे थे और अब ये........
जैसी रामजी कि मर्जी
नमस्कार

शोभना चौरे ने कहा…

बिग बास त्रतीय में जब अमिताभजी भारतीय परम्पराओ कि बाट करते है तो हस्याद्पद लगता है |डेढ़ साल के बच्चे .ढाई साल के बच्चे को रोता छोड़कर कोनसी परम्पराओ कि बात करते है ?बिग बास वाले और बिग बास खुद ?
समझ से परे है |आज सचमुच पैसा कमाना ही परम्परा बन गया है |

राज भाटिय़ा ने कहा…

पैसा पैसा सब को आज यह पैसा चाहिये,भारतीया परम्पराये जाये भाड मै, बाते करने मै क्या जाता है इन का.

Suresh Chiplunkar ने कहा…

इस बारे में ज्यादा पता नहीं है, क्योंकि टीवी अधिक देखना होता नहीं, जो भी दिखाई देता है वह फ़ूहड़ और घटिया ही होता है अतः सिर्फ़ 10-15 मिनट समाचार देख लेते हैं या फ़िर मराठी के चैनल्स जहाँ (फ़िलहाल) फ़ूहड़ता से निजात मिल जाती है…। बिग बॉस का तीसरा भाग हिट करवाने के लिये अमिताभ का सहारा लेना आवश्यक था… जो नाम आपने गिनाये हैं, वे लोग वाकई फ़ुरसती हैं जो 90 दिन तक एक जगह बन्द रहने को तैयार हो गये… मेरा अंदाज़ा है कि राजू श्रीवास्तव विजेता बनेंगे, क्योंकि दर्शक उन्हें अधि्क से अधिक समय बिग बॉस के घर में देखना पसन्द करेंगे्… :)

Neeraj ने कहा…

Pahle din Dekha Tha Raju Shrivastava Bhi kuch khash nahi lahe Esa laga kul Fursatiya Logo ko hi Chuna hai. Esse achchha to Sadak ke Majduron ko le lete to unki kuch kamai bhi ho jati our Sharireek Aaram Bhi.

गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' ने कहा…

Ati uttam