शुक्रवार, 12 नवंबर 2010

सुदर्शन का आभार माने कांग्रेसी

हजारों करोड़ का कामनवेल्थ घोटाला और कारगिल के शहीदों के वेवाओं के फ्लैट कि बंदरबांट पर बुरी तरह घिरी कांग्रेस को पूर्व संघ प्रमुख सुदर्शन का आभार मानना चाहिए जो उन्होंने बीजेपी के हाथ से भ्रष्टाचार का यह जलता मुद्दा अपने बयान के गरम पानी में बुझा डाला। जनता के मुद्दों पे मौन साढ़े बैठे काग्रेसियों को संघ के बहाने बीजेपी पे भारी पड़ने का मोका हाथ लग गया। बचाव की मुद्रा में आये संघ और बीजेपी को अब कुछ दिन ठहर के एक बार फिर कॉमनवेल्थ और कारगिल के शहीदों कि विधवाओं के फ्लैट खाने का मामला ताकत से उठाना चाहिए। इसलिए नही कि संघ बदला ले। बल्कि इसलिए कि दोनों ही घोटाले अक्षम्य हैं। कॉमनवेल्थ का भ्रष्टाचार दुनिया भर में भारत कि बदनामी का कारण बना और आदर्श सोसायटी का मामला जन जन की भावना का अपमान है। जब कारगिल वार हुआ था तब लोगों ने रक्तदान किया था और महाराष्ट के मुख्यमंत्री ने अपनी सास को फ्लैट दे डाला। फिलहाल यह देखना रोचक होगा कि बंद किले कि राजनीति से मैदान कि राजनीति में आते hi maand
mein ghusne को मजबूर हुए संघ और संघ पुत्री बीजेपी अब क्या रणनीति बनाते हैं। कांग्रेसी फिलहाल १ गोल से आगे हैं और ये गोल संघ के पूर्व कप्तान ने अपनी ही टीम के खिलाफ किया है। यही तो राजनीति का रंग है एक कदम आपकी साडी रणनीति को चोपट कर देता है।

2 टिप्‍पणियां:

rakesh ने कहा…

बढिया टिप्‍पणी सतीश।

Manoj Kumar Gohil ने कहा…

bahoot acha likha hai sir......