बुधवार, 23 दिसंबर 2009

एक और मकबूल फ़िदा हुसैन

देवी और सरस्वती के अश्शील चित्र बनाने वाले हुसैन के नक्शे कदम पर चल पड़े अनाम से चित्रकार फैयाज ने मंगलवार को भोपाल के भारत भवन में एक चित्र प्रदर्शनी में हनुमानजी का अपमान करने चित्र लगा डाला। हिंदुओं ke वोटों से सत्ता में आने वाली भाजपा की मप्र में सरकार है और इस सरकारी कला भवन में हनुमानजी को पेंट शर्ट पहने और कला चश्मा लगाए भारत भवन को पर्वत की तरह उठाए हुए चित्रित किया गया है। खास बात ये है की हुसैन मप्र के इंदौर के हैं और फैयाज का चित्र मप्र की राजधानी में प्रदर्शित हुआ। इतना ही नहीं बात फैलते ही चित्र तो हटा लिया गया लेकिन मीडिया में इसकी खबर रुकवाने सरकार का जनसंपर्क विभाग जुट गया और सफल ही रहा। जन्संप्रक आयुक्त मनोज श्रीवास्तव भारत भवन के ट्रस्टी भी हैं, हालाँकि जबसे उन्हे संस्कृति सचिव पद से हटाया गया है, वे भारत भवन से खुद को दूर ही रख रहे हैं। ट्रस्टी पद से खुद हटाने के लिए उन्होंने शासन को दो महीने पहले लिखित में आवेदन भी दिया था, लेकिन सरकार ने उसे अब तक मंजूर नहीं किया है। मनोज हनुमानजी के अनन्य भक्त हैं और उनके चरित्र माहात्म्य पर किताब लिख चुके हैं। दुर्गा सरस्वती के अश्श्लिल चित्र बनाने वाले मकबूल फिदा हुसैन को कसाई बताकर हंगामा मचाती रही भाजपा के राज में हनुमानजी के फूहड़ चित्र सरकारी संस्थान में प्रदर्शित होने पर कोई सख्त कार्रवाई के बजाय मामले को दबाने से भाजपा की कथनी करनी अलग बताने वालों के आरोप में और दम पैदा हो जाता है। देखना ये है की हनुमानजी के नाम पर चल रहे संगठन बजरंग दल क लोग इस मामले पर क्या करते हैं। हो सकता है वे कुच्छ न करें और वेलेंटाइन डे पर प्रेमियों को पीटने क अपने सालाना आयोजन की तैयारी में व्यस्त हों। बहरहाल मारूतिनंदन हनुमान जी महाराज फैयाज को निश्चित ही क्षमा कर देंगे क्योंकि वे जानते हैं की फैयाज नासमझ है, तभी तो उसने ऐसा किया । लेकिन भाजपा और उसकी सरकार का की होगा. अगर बजरंग बली नाराज हुए तो फैयाज को और भाजपा को भला कौन बचा सकता है, सिवाय हनुमान जी के। जय बजरंगवली की

10 टिप्‍पणियां:

sanjeev persai ने कहा…

जय बजरंग बली

Mithilesh dubey ने कहा…

साला एक बात समझ नहीं आयी आज तक कि क्या उनके कौम कोई नहीं है जिनका वे इस तरह का चित्र बना सके , ऐसे लोगो को तो चौराहे पर टांग कर पत्थर मारने के लिए छोड़ दिया जाना चाहिए , ताकी कोई और ऐसी दुस्सहास ना कर सके ।

निर्झर'नीर ने कहा…

ghatiya soch valo ko kya kahiye ..inka kuch nahi ho sakta .
jab tak vote ka lalach jayega nahi tab tak samaj dishahiin hi rahega

aarya ने कहा…

सादर वन्दे
ये लोग उस जाती के हैं की जब इनके पैगम्बर का फोटो कही छपता है तो ये कुत्ते भारत में बवाल करते हैं जैसे लगता है उनकी माँ बहनों की इज्जत लुटी गयी हो लेकिन वही ये कुत्ते दूसरे धर्मो का मजाक उड़ाते है इन दोगली नश्लों के बारे में क्या कहा जाये, एकदिन ये खुद ही सड कर मर जायेंगे.

राज भाटिय़ा ने कहा…

सतीश जी अपने ही देश मै हिन्दू की जितनी बेज्जती होती है उतनी ओर कही नही,अब क्या कहे, वेसे इन के दिमाग मै भूस भरा है ओर गंदगी भरी है

रंजना ने कहा…

देखना ये है की हनुमानजी के नाम पर चल रहे संगठन बजरंग दल क लोग इस मामले पर क्या करते हैं। हो सकता है वे कुच्छ न करें और वेलेंटाइन डे पर प्रेमियों को पीटने क अपने सालाना आयोजन की तैयारी में व्यस्त हों।
Yah sahi kaha aapne...isme ho sakta hai ke sthaan par nishchyatmak shabd prayukt kar den...

Yahi to hai aaj ke rajnitik dalon ka charitra ...kya kaha jaay...

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

Nindneey.
--------
2009 के श्रेष्ठ ब्लागर्स सम्मान!
अंग्रेज़ी का तिलिस्म तोड़ने की माया।

बेनामी ने कहा…

exclusive.go ahed.dont fear to write against anybody. iam with you.

बेनामी ने कहा…

yeh benami mai hoon - sanjay prakash sharma.

Neeraj ने कहा…

Jia Bajrang Bali,
Hamare Hindu Dharma etna Lachila hai ki koi bhi kuch kar sakte hai dil ne jise chaha use Bhagwan mn liya, Bagwan ki Murat se Kya lena, Chahe Langota lagaye ya Kapde our Chashma pahne, Hamre liye to Vandaniye hai, Pahad Udaye hai Vaidhya Ji ka Mahal Laxman G ko Bachane, BJP our Bajrang dal to Bhavnao se khelne ke liye hai